fbpx

लोग नहीं भुना रहे नरेंद्र मोदी के हस्ताक्षर वाले चेक

ये चेक चुनाव प्रचार में इस्तेमाल सामान के बदले सप्लायरों को दिए गए थे

जब मोदी के खाते से पैसे कम नहीं तो चुनाव संचालकों की पड़ताल में यह बात सामने आई

मोदी के चुनाव संचालकों ने बताया कि लोग इन्हें यादगार के तौर पर रखना चाहते हैं

वाराणसी (महानाद) : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी सभा के लिए सामान मुहैया कराने वाले सप्लायर उनके हस्ताक्षर वाले चेक बैंक में जमा नहीं कर रहे हैं। सप्लायर उन्हें फ्रेम कर ड्राइंगरूम में सज रहे हैं। कई लोगों को चेक देने के बाद भी जब खाते से पैसे कम नहीं तो उनके चुनाव संचालकों को यह बात पता चली।

प्रधानमंत्री के चुनाव का जिम्मा संभाल रहे नेता अब लोगों को रंगीन फोटो कॉपी रखकर मूल चेक बैंक में लगाने के लिए समझा रहे हैं। अब नए चेकों के साथ रंगीन फोटो कॉपी भी दी जाने लगी है।

आपको बता दें कि चुनाव आयोग ने उम्मीदवार के खर्च की सीमा 70 लाख रुपए तय कर रखी है। भुगतान उम्मीदवार के चुनावी खाते से होता है। खर्च का ब्योरा नियमित रूप से निर्वाचन अधिकारी को देना होता है।

चेक बैंक में लगाकर भुगतान लेने की अपील:

प्रधानमंत्री के चुनाव का काम देख रहे काशी प्रांत के सह प्रभारी सुनील ओझा ने कहा कि लोग प्रधानमंत्री के हस्ताक्षर वाले चेक यादगार के तौर पर रखना चाहते हैं। इसलिए चेक बैंक में जमा करने के बजाय फ्रेम करवा रहे हैं। अन्य नेता महेश चंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि हमने लोगों से आग्रह किया है कि चेक बैंक में लगाकर भुगतान लें।

यह मेरे लिए सौभाग्य की बात :

ग्राफिक डिजाइनर गणपति ने बताया कि प्रधानमंत्री के हस्ताक्षर वाला चेक मिलना मेरे लिए सौभाग्य की बात थी। मैंने चेक बैंक में लगाने के बजाय उसे अपने ड्राइंग रूम में लगाना बेहतर समझा। यह प्रधानमंत्री के प्रति मेरा समर्पण और उनकी नीतियों के प्रति आस्था है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताम्रपत्र लौटाने की घोषणा ली वापस     |     आपका DTH का बिल कम करने की तैयारी में जुटा TRAI     |     अश्लील छींटाकशी पर महिला ने की युवक धुनाई     |     112 दवा विक्रेताओं के लाइसेंस निरस्त     |     काले धन के खिलाफ बने कानून मामले में सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला     |     महंगी हो गई हज यात्रा     |     बकवास है 100 फीसदी EVM-VVPAT मिलान की मांग : सुप्रीम कोर्ट     |     एक्जिट पोल पर ध्यान ना दें, डटे रहें मतगणना केंद्रों पर : प्रियंका गांधी     |     बेटी को छेड़ा तो मां ने बीच सड़क पर गिराकर पीटा,     |     गुलदार के हमले से ग्रामीण घायल     |    

WhatsApp us