एनआरएचएम घोटाले में चार डॉक्टरों समेत सात पर केस

शिशिर भटनागर

बिजनौर (महानाद) : चंदक पीएचसी में 62 फर्जी डिलीवरी दिखाकर एनआरएचएम के तहत जननी सुरक्षा योजना की राशि हड़पने के मामले में चार डॉक्टरों समेत सात स्वास्थ्यकर्मी फंस गए हैं। शासन के आदेश पर विजीलेंस निरीक्षक बरेली की ओर से इनके खिलाफ मंडावर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

विजीलेंस निरीक्षक बरेली चन्द्रीलाल आलिया की ओर से मंडावर थाने में तत्कालीन प्रभारी चिकित्साधिकारी चंदक पीएचसी डा. सतीश चंद्रा, डा. रामकुमार, डा. विक्रम सिंह, डा. राजवीर, दीपक कुमार लिपिक, एएनएम मीना वर्मा व आशा कार्यकत्री राजेश्वरी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। आरोप है कि सभी ने राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के तहत जननी सुरक्षा योजना में संस्थागत प्रसव के लिए दी जाने वाली राशि हड़पने के लिए 62 डिलीवरी के फर्जी अभिलेख तैयार किए और सरकारी धन का व्यक्तिगत लाभ लिया।

विभागीय जानकारी के अनुसार मामले में पूर्व में शासन की ओर से निलंबन की कार्रवाई हो चुकी थी। अब एएनएम मीना वर्मा ने बहाल होने के बाद शासन से निष्पक्ष जांच की मांग की थी। शासन के आदेश पर विजीलेंस बरेली पिछले कईं माह से इसकी जांच कर रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एसपी विपिन टाडा ने किया गंगा मां का धन्यवाद     |     राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने टेका नानकमत्ता गुरुद्वारे में मत्था     |     रोडवेज बसों से हो रहा डीजल चोरी, फोटो हुआ वायरल     |     ढूंढे नहीं मिल रहे नोटबन्दी में करोड़पति बने 40 लोग     |     शिवसेना की एक ही रट, मुख्यमंत्री हमारा ही होगा     |     तभी समर्थन इंदिरा जी ने शिवसेना का पाया था : अनिल सारस्वत     |     ज्वालानगर क्षेत्र में आज पेयजल आपूर्ति रहेगी ठप     |     शॉकिंग : दिल्ली में बिकने लगी ऑक्सिजन, 15 मिनट की कीमत 299 रुपये     |     कार से बरामद हुए 33.36 लाख रुपये, 3 लोगों ने दिए 3 जवाब     |     बर्दाश्त नहीं किया जाएगा पत्रकारों का उत्पीड़न : प्रदीप फुटेला     |    

WhatsApp us