छात्रवृत्ति घोटाले में तीन के खिलाफ केस दर्ज, कई और बड़े नामों के होंगे खुलासे

पराग अग्रवाल

जसपुर (महानाद) : -छात्रवृत्ति घोटाले में तीन लोगों के खिलाफ और केस दर्ज किया गया है। बहुचर्चित एसआईटी जांच में इंस्टीट्यूट एवं समाज कल्याण विभाग से मिलीभगत कर करोड़ों के घोटाले में लिप्त और एक इंस्टिट्यूट से संबंधित तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया.

एसआईटी इंस्पेक्टर भीम भास्कर आर्य ने दी तहरीर में कहा कि दुष्यंत पुत्र महेंद्र सिंह निवासी रामनगर वन जसपुर, मनोज कुमार निवासी जाफराबाद रेहड (बिजनौर) एवं मिथुन निवासी नजीबाबाद (बिजनौर) द्वारा महावीर इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी सरधना रोड मेरठ के अधिकारी गण, कर्मचारी ,स्वामी एवं प्रबंधक से सांठगांठ कर कूट रचित कार्य तैयार कर असली के रूप में प्रयोग कर राज्य सरकार को ₹926900/= का दुरुपयोग व गबन कर लिया गया है।

एसआईटी जांच अधिकारी एवं कोतवाली जसपुर के एसएसआई ललित मोहन जोशी ने बताया कि छात्रवृत्ति घोटाले में जसपुर थाने में अभी तक पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किये जा चुके हैं। जिनमें से दो को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. अभी और लोगों के भी छात्रवृत्ति घोटाले में आने की संभावना है. बताया कि मामले को लेकर पुलिस एक सौ से अधिक लोगों से पूछताछ कर चुकी हैं. बताया कि भविष्य में पूछताछ के दौरान और भी कई बड़े नामों के खुलासे सामने आने वाले हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कश्मीरी पंडितों के 2 सबसे बड़े हत्यारे आज भी हैं जिंदा     |     80 किलो गांजे के साथ एक गिरफ्तार     |     हिंदुस्तान में जन्मे प्रत्येक व्यक्ति के पूर्वज हिंदू थे : आफताब आडवाणी     |     2 साल पहले की थी लव मैरिज, अब पत्थर से सर कुचलकर कर दी पत्नी की हत्या     |     मोदी के परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम में उदयराज हिन्दू इंटर कालेज पहुंचे शिक्षा मंत्री अरविन्द पाण्डेय     |     प्रधानमंत्री के मन की बात के तहत परीक्षा चर्चा में बोले छात्र छात्राएं     |     नादेही चीनी मिल में गन्ने की ट्राली हटाने को लेकर विवाद, पुलिस ने तोड़ी ट्रैक्टर की लाइटें     |     भाजपा की CAA के समर्थन रैली में डीएम व एसडीएम ने प्रदर्शकारियों को मारे थप्पड़     |     24 घण्टे में पकड़े गए नाबालिग से दुराचार के आरोपी     |     हरीश रावत के कार्यक्रम में युवा नेत्रियों ने नहीं दी वरिष्ठ नेत्री को जगह     |    

WhatsApp us