हिंदुस्तान में जन्मे प्रत्येक व्यक्ति के पूर्वज हिंदू थे : आफताब आडवाणी

अक्षय अग्रवाल

अमरोहा (महानाद) : प्रदेश के अमरोहा जनपद के कस्बा नौगांवा सादात निवासी भारतीय जनता पार्टी अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष आफताब आडवाणी ने संघ प्रमुख मोहन राव भागवत के बयान का समर्थन किया और पत्थरबाजों पर तेजाब डालने की बात कही।

भाजपा नेता आफताब आडवाणी ने कहा कि मैं सरसंघचालक मोहनराव भागवत द्वारा दिए गए उस बयान का समर्थन करता हूं जिसमें उन्होंने यह कहा है कि हिंदुस्तान में जन्मे प्रत्येक व्यक्ति के पूर्वज हिंदू थे। क्योंकि इसकी पुष्टि यहां से हो जाती है। जिस प्रकार पूरा संसार जानता है औरंगजेब द्वारा लोगों पर जुल्म करके लोगों पर जबरदस्ती करके धर्मांतरण कराकर उनका धर्म बदल पाया गया। हिंदू किसी धर्म का नाम नहीं है। सनातन हिंदू एक विचारधारा है और इस विचारधारा को मैं हृदय की गहराइयों से मानता हूं। मै भी पहले एक हिंदू हूं, हिंदुस्तानी हूं, उसके बाद मुसलमान हूं। जिस प्रकार वाहावी विचारधारा देश में पैर फैला रही है यह विचारधारा देश में मुसलमानों खासकर के पैर फैला रही है मैं उसकी कड़ी निंदा करता हूं। उसी विचारधारा का ये असर है कि इन लोगों ने देश में पत्थरबाजी की देश की धरोहर को नुकसान पहुंचाने का कार्य किया है। मैं इन लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई चाहता हूं। ऐसे लोगों को पकड़ा जाए ऐसे लोगों पर तेजाब डाल दिया जाए। यह बहुत ही इनका अच्छा इलाज होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

प्रेम प्रसंग में कहासुनी में युवक ने अपने को गोली मारकर कर ली आत्महत्या     |     बहुचर्चित ‘सिमरन’ हत्याकांड का वांछित अभियुक्त गिरफ्तार : कोतवाल     |     रामनगर पुलिस की सक्रियता के चलते टला बड़ा हादसा, पुलिस की घेराबंदी से घबराये गाड़ी छोड़ भागे हथियारबंद बदमाश     |     नसबंदी अभियान: मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार चली इंदिरा की राह?     |     धार्मिक संस्थानों पर लगे लाउडस्पीकरों की आवाज कम करने को लेकर बैठक     |     प्रेमिका से मिलने गए छात्र की 20-25 लड़कों ने चाकू से गोद कर हत्या     |     दिल्ली से देहरादून के लिए चलेगी तेजस ट्रेन     |     पाकिस्तान पहुंच गए शत्रुघ्न सिन्हा     |     नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) भारत का ‘आंतरिक मामला’ : शेख हसीना     |     देश के हर घर में चर्चा का विषय बने जूली और मटुकनाथ अब नही है एक साथ, मरणासन्न हालत में हैं जूली, मटुकनाथ नहीं कर रहे कोई मदद     |    

WhatsApp us