80 करोड़ लोगों को 2 रुपये प्रति किलो में गेहूं और चावल 3 रुपये प्रति किलो में देगी भारत सरकार

नई दिल्ली (महानाद) : भारत में कोरोना (Coronavirus) के कहर के बीच मोदी सरकार ने बड़े राहत पैकेज का ऐलान किया है.  बुधवार को पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में देश के 80 करोड़ लोगों को कम दाम पर राशन उपलब्ध कराने का फैसला किया गया.

कैबिनेट की बैठक खत्म होने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि देश के 80 करोड़ लोगों को सस्ते दर पर राशन दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार देश के 80 करोड़ लोगों को हर महीने 7 किलो प्रति व्यक्ति राशन देगी और वो भी 3 महीने के लिए एडवांस. जावड़ेकर ने बताया कि सरकार 80 करोड़ लोगों को 27 रुपये प्रति किलो वाला गेहूं मात्र 2 रुपये प्रति किलो में और 37 रुपये प्रति किलो वाला चावल 3 रुपये प्रति किलो में देगी. उन्होंने कहा कि इसपर 1 लाख 80 हजार करोड़ रुपये खर्च हो रहे हैं. केंद्र यह रकम तीन महीने के लिए राज्यों को एडवांस में देगी.

कोरोना वायरस पर प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाकर रखें. किसी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें और हेल्थ मिनिस्ट्री की वेबसाइट पर सारी जानकारी लेते रहें.

आपको बता दें कि कोरोना कहर के बीच पीएम मोदी की कैबिनेट बैठक का में अलग ही नजारा देखने को मिला. सभी मंत्री कम से कम 1 मीटर की दूरी पर बैठे. सामाजिक दूरी का पूरी तरह से पालन किया गया. दरअसल कोरोना वायरस से बचाव का एकमात्र उपाय एक-दूसरे से कम से कम 1-2 मी की सामाजिक दूरी (Social Distancing) बनाए रखने को ही बताया जा रहा है. बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत वरिष्‍ठ मंत्री उपस्थित थे.

कैबिनेट की बैठक में कोरोना को लेकर तैयारियों की समीक्षा हुई. PM मोदी ने कैबिनेट की बैठक में कहा कि कोरोना को लेकर 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान किसी को कोई परेशानी न हो, इसका ख्याल रखा जाना चाहिए. PM ने सभी मंत्रियों को हिदायत दी कि वे अपने-अपने विभागों के जरिये लोगों की परेशानियों को दूर करने का काम करें.

पीएम मोदी ने कोरोना को लेकर कैबिनेट के सदस्यों को कुछ प्‍वाइंट्स भी बताए. इसमें कहा गया कि सोशल डिस्‍टेंसिंग बेहद जरूरी है. लोगों के साथ ही अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना है. सभी मंत्रियों ने इस पर अपने सुझाव भी दिए. स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भी हेल्थ मंत्रालय की तरफ से उठाए जा रहे कदमों की जानकारी दी. ये भी बताया कि राज्य सरकारों के साथ समन्वय से काम हो रहा है. लॉकडाउन को कैसे लागू किया जा रहा है और राज्यों से करवाया जा रहा है उसको लेकर गृह मंत्रालय की तरफ से कैबिनेट को ब्रीफ किया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

छूट पर भारी पड़ा कोरोना, 31 मार्च को उत्तराखंड में नहीं होगा आवागमन     |     जसपुर में खाकी एवं गुरूद्वारा, बने भूखों का सहारा     |     निजी अस्पताल शुरू करें ओपीडी वरना की जाएगी दण्डनीय कार्रवाई : जिलाधिकारी     |     इमलीखेड़ा पुलिस ने गरीबों को खिलाया भरपेट भोजन, जनता ने की तारीफ     |     कोरोना वायरस के चलते रद्द हो सकती है हज यात्रा 2020: शमीम आलम     |     लाॅकडाउन निर्देशों का पालन कराना डीएम व एसपी की जिम्मेदारी     |     राधा स्वामी सत्संग में बनाया गया बाहर से पैदल चलकर आ रहे मजदूरों की मदद हेतु राहत शिविर     |     पीएम ने सांसद निधि से मांगे 1 करोड़, बीएसपी सांसद दानिश अली ने दिए 50 लाख     |     लाॅकडाउन: फसलों की कटाई बुवाई, रोपाई आदि की मशीनों और मजदूरों का मिली काम करने की छूट     |     अपने घरों की ओर लौट रहे मजदूरों की सेवा में लगी है रामनगर पुलिस     |    

WhatsApp us