अम्बानी ब्रदर्स : एक भाई अर्श पर तो दूसरा फर्श पर

अम्बानी ब्रदर्स : एक भाई अर्श पर तो दूसरा फर्श पर

महानाद डेस्क : क्या किस्मत है कि आज धीरूभाई अंबानी के बड़े पुत्र मुकेश अंबानी अर्श पर हैं तो छोटे पुत्र फर्श पर पहुंच गए हैं।

एशिया के सबसे अमीर बिजनेस मैन मुकेश अंबानी जहां अपनी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज को कर्ज मुक्त कर चुके हैं तो दूसरी ओर उनके छोटे भाई और रिलायंस एडीएजी के चेयरमैन अनिल अंबानी कर्ज के भारी-भरकम बोझ के तले दबने के बाद दिवालिया होने की कगार पर हैं। अनिल अंबानी अपनी तमाम कंपनियों को बेच चुके हैं। लेकिन उनके कर्ज का बोझ कम नही हो रहा है।

बता दें कि एक दौर था जब अनिल अंबानी अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी को टक्कर देने चले थे। बड़े-बड़े प्रोजेक्ट्स का ऐलान किया। यहां तक कि 3 चीनी बैंकों से 700 मिलियन डॉलर का कर्ज ले डाला और अब आलम ये है कि लंदन की हाई कोर्ट में चल रहे इस मुकदमे में उन्होंने कहा कि, ‘मेरे पास इतने भी पैसे नहीं हैं कि अपना रोजमर्रा का खर्च चला सकूं, वो भी घरवाले उठा रहे हैं। केवल एक कार का इस्तेमाल करके आम आदमी की तरह रहे हैं।’

गलत बिजनेस फैसलों के चलते अनिल अंबानी की बर्बादी की कहानियां यूं तो सोशल मीडिया पर पिछले कुछ सालों से चल रही थीं। लेकिन अब खुद अनिल अंबानी ने इसे कबूल किया है।

विदित हो कि 2012 में अनिल अंबानी की निजी गारंटी के आधार पर रिलायंस कॉम ने 3 चीनी बैंकों इंडस्ट्रियल एंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना लिमिटेड (मुंबई शाखा), एक्जिम बैंक ऑफ चाइना और चाइना डेवलपमेंट बैंक से  700 मिलियन डॉलर का कर्जा लिया था। बाद में जब अनिल अंबानी की कंपनी दिवालिया घोषित हो गई तो चीनी बैंक कोर्ट में चली गईं। 22 मई 2020 के लंदन हाई कोर्ट के एक आदेश के मुताबिक जब अनिल अंबानी 7.17 मिलियन डॉलर यानी 5281 करोड़ रुपये का भुगतान 12 जून तक नहीं कर पाए तो कोर्ट ने 29 जून को आदेश दिया कि अनिल अंबानी दुनिया भर में फैली अपनी उन सम्पत्तियों का खुलासा करें, जिनकी कीमत 1 लाख डॉलर यानी 74 लाख रुपये से ज्यादा है। उन्हें उन सम्पत्तियों में सभी हिस्सेदारों की जानकारी भी देनी थी। इसके अलावा उन्हें पिछले 2 साल का क्रेडिट कार्ड का स्टेटमेंट भी जमा करने को कहा गया।

अनिल अंबानी ने कहा कि उन्होंने अपना खर्च चलाने के लिए अपने बेटे तक से लोन लेना पड़ा है।

अनिल अंबानी की पेशी रूल 71 के तहत हुई, जिसमें जज कर्ज ना चुकाने वाले से सीधे कोर्ट में तलब करता है। अनिल अंबानी ने एक एप्लीकेशन कोर्ट को दी थी कि अगर उनकी पेशी सार्वजनिक हुई तो उनके लिए निजी तौर पर ये काफी शर्मिंदगी भरा होगा, इसलिए उनकी पेशी को सार्वजनिक ना किया जाए, लेकिन उनकी एप्लीकेशन को खारिज कर दिया गया।

अंबानी ने कहा कि उनकी नेट वर्थ नेगेटिव है। उन्होंने अपनी मां से 5 अरब रुपये का लोन लिया है, उन्होंने अपने बेटे अनमोल से भी कुछ कर्ज ले रखा है, वो भी करोड़ों में है। वकीलों की फीस भरने के लिए उन्होंने अपने सारे जेवर बेच दिए हैं, कुल 9.9 करोड़ रुपए की ज्वैलरी उन्हें बेचनी पड़ी है। आज वेे अपने बड़े

भाई मुकेश अम्बानी की बिना किराए की प्रॉपर्टी में रहते हैं, उन्होंने ये भी बताया कि उनके पास अब आगे देने के लिए पैसे भी नहीं है, उन्होंने ये भी कहा कि उनके पास केवल एक कार है, जबकि मीडिया खबरें चलाती है कि मेरे पास रॉल्स रॉयस है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us