अपना माल बेचने का दबाव बनाने के लिए किया था मिलकर्मी का अपहरण, अब पहुंचे जेल

अपना माल बेचने का दबाव बनाने के लिए किया था मिलकर्मी का अपहरण, अब पहुंचे जेल

आकाश गुप्ता/नरेश खुराना
काशीपुर (महानाद) : पुलिस ने तेज गति से कार्रवाई करते हुए एक अपहृत पेपर मिल अधिकारी को सकुशल बरामद कर 5 अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। जबकि एक महिला सहित दो लोग अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं।

मधुबन नगर निवासी शिखा रानी पत्नी दीपक कुमार ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि उसके पति दीपक कुमार पुत्र हरपाल विश्वनाथ पेपर मिल में कार्यरत हैं। बृहस्पतिवार को जब वे ड्यूटी से घर लौट रहे थे तो घर के पास खड़ी क्रेटा कार संख्या यूके18एल/3190 व एसयूवी संख्या एचआर36आर/8181 में सवार एक महिला सहित आधा दर्जन अज्ञात बदमाशों ने उनका अपहरण कर उसकी बुरी तरह पिटाई की और उसके बैग में रखी हजारों की नकदी लूट ली। अपहरण की सूचना मिलते ही हड़कंप मच गया। अधिकारियों द्वारा सूचना मिलने पर एसएसपी दलीप सिंह कुंवर भी रात में ही 1:30 बजे काशीपुर पहुंच गए और अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम का गठन किया।

मामले का खुलासा करते हुए एएसपी राजेश भट्ट ने बताया कि अपने कार्यालय में करते हुए बताया कि एक महिला द्वारा उसके पति के अपहरण की सूचना दी गई थी। जिस पर एसएसपी उधम सिंह नगर के निर्देश पर पुलिस टीम का गठन किया गया और त्वरित कार्रवाई करते हुए रात्रि में ही बदमाशों में से 5 को गिरफ्तार कर लिया जबकि एक महिला प्रियंका चैहान, निवासी कलश मंडप के पास तथा मनोज चौधरी पुत्र ओमकार सिंह निवासी आवास विकास अभी फरार हैं जिन्हें जल्दी ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा। पकड़े गये बदमाशों की तलाशी लेने पर उनके पास से लूटे गये 10 हजार रुपये, पर्स, आधार कार्ड, एटीएम कार्ड व विजिटिंग कार्ड बरामद हुए हैं। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त दोनों कारों को कब्जे में लेकर सीज कर दिया है।

पकड़े गये बदमाशों ने अपने नाम अमित कुमार पुत्र हरपाल सिंह निवासी ग्राम जमशेदपुर, थाना डिलारी, जिला मुरादाबाद, सुनील सिंह पुत्र राजेन्द्र सिंह छीना फार्म, ढकिया गुलाबो काशीपुर, अंकित चौधरी पुत्र बलवीर सिंहनिवासी न्यू आवास विकास, काशीपुर, विशाल भारद्वाज पुत्र कुलदीप भारद्वाज निवासी सरोजनी नगर, अलीगंज रोड, काशीपुर तथा अशोक ठाकुर पुत्र वेदप्रकाश निवासी खड़कपुर देवीपुरा थाना आईटीआई, काशीपुर बताये।

एएसपी भट्ट ने बताया कि मनोज का ठाकुरद्वारा जिला मुरादाबाद निवासी एक महिला के साथ पार्टनरशिप में केमिकल बनाने का प्लांट है। वे दीपक पर दबाव डालकर पेपर मिल को अपना केमिकल बेचना चाहते थे।

मामले का खुलासा करने वाली टीम में कोतवाल संजय पाठक, एसएसआई सतीश चन्द्र कापड़ी, एसआई रविन्द्र बिष्ट, गणेश पाण्डे, अमित शर्मा, संजीव कुमार, जितेन्द्र कुमार, कांस्टेबल वीरेन्द्र यादव, महेंद्र डंगवाल, दीवान सिंह बोरा, अनुज त्यागी, मनोज कुमार, दलीप बोनाल, सुरेन्द्र सिंह, मोहन गिरी तथा महिला कांस्टेबल प्रियंका काम्बोज एवं भुवनेश्वर शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us