कांग्रेसियों ने कुष्ठ आश्रम में मनाया इंदिरा गांधी का जन्मदिन, कांग्रेस नेत्री और नेता में हो गई तू-तू-मैं-मैं

कांग्रेसियों ने कुष्ठ आश्रम में मनाया इंदिरा गांधी का जन्मदिन, कांग्रेस नेत्री और नेता में हो गई तू-तू-मैं-मैं

आकाश गुप्ता
काशीपुर (महानाद) : महानगर कांग्रेस कमेटी ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी की 104 वीं जयंती आज टांडा उज्जैन स्थित कुष्ठ आश्रम में इंदिरा गांधी के के चित्र पर पुष्प अर्पित कर मनाई। इस दौरान ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, इंदिरा तेरा नाम रहेगा’ के नारे लगते हुए आश्रम में फल वितरित किये।

कार्यक्रम में महानगर अध्यक्ष संदीप सहगल एडवोकेट ने कहा कि वर्तमान की राजनीति में स्व. इंदिरा गांधी जैसी मजबूत इरादे वाले नेता की जरूरत है, तभी हमारा देश विकास की नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगा। आज का युवा वर्ग व महिला वर्ग यह चाहता है कि भारत स्व. इंदिरा गांधी के बताए हुए रास्ते पर चले और सर्व धर्म की समान राजनीति बिना किसी भेदभाव के भारतवर्ष में व्याप्त हो।

वक्ताओं ने कहा कि आयरन लेडी के नाम से विख्यात स्वर्गीय इंदिरा गांधी ने सन 1971 में बंग्लादेश के मुद्दे पर भारत पाकिस्तान में युद्ध छिड़ा और पहले की तरह एक बार फिर पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी। ऐसे तमाम कार्य स्वर्गीय गांधी के कार्यकाल में हुए। वह नारी शक्ति के लिए वरदान साबित हुई। उन्होंने हमेशा महिलाओं को विकास से जोड़ कर रखा।

इस मौके पर अरुण चैहान, मुक्ता सिंह, शफीक अहमद अंसारी, प्रीत बम, अलका पाल, रोशनी बेगम, संजय चतुर्वेदी, ब्रह्मा सिंह पाल, प्रभात साहनी, मोहित चैधरी, सुभाष पाल, महेंद्र बेदी, राजेश शर्मा एडवोकेट, सचिन नाडिग एड., जफर मुन्ना, मंसूर अली, इलियास माहीगीर, मुनेश देवी, आनंद कुमार, मतलूब हुसैन, अब्दुल कादिर, राशिद फारुखी, अनीस अंसारी, अफसर अली आदि कांग्रेसी मौजूद थेे।

वहीं आज कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस नेत्री मुक्ता सिंह एवं कांग्रेस नेता राशिद फारुखी के बीच फोटो खिंचाने को लेकर तू-तू-मैं-मैं हो गई। जहां फोटो खिंचवाने को लेकर कांग्रेस नेता राशिद फारूखी ने मेयर प्रत्याशी रही कांग्रेस नेत्री मुक्ता सिंह पर कोई टिप्पणी कर दी। मुक्ता सिंह का आरोप है कि राशिद फारूखी ने उनके साथ बदसलूकी की है और उन्होंने इसकी शिकायत प्रदेश नेतृत्व से कर दी है और राशिदफारूखी को पार्टी से निकाले जाने की मांग की है। वहीं राशिद फारूखी का कहना है कि अपने 20 साल के राजनैतिक जीवन में उन्होंने कभी किसी के साथ गलत व्यवहार नहीं किया है। मुक्ता सिंह ने उनके साथ ऐसी अभद्र भाषा का प्रयोग किया है जिसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता। लेकिन यदि प्रदेश स्तर पर इस बारे में पूछा जायेगा तो वे वहां पर सब कुछ बता देंगे। बहरहाल मामला जो भी हो जहां एक और कार्यक्रम में मौजदू अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता कुछ भी कहने से बच रहे हैं तो वहीं कांगे्रस नेत्री और नेता के बीच हुई तू-तू-मैं-मैं शहर में चर्चा का विषय बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us