डाकखाना रोड पर कंटेनमेंट जोन के विरोध में उतरे व्यापारी, नही होने दी गली सील

विकास अग्रवाल
काशीपुर (महानाद) : महापौर उषा चौधरी एवं उनके पति के कोरोना पाॅजिटिव पाये जाने के बाद उनके आसपास के एरिये को कंटेनमेंट जोन बनाने पहुंचे पुलिसकर्मियों को व्यापार मंडल के विरोध का सामना करना पड़ा। व्यापारियों ने प्रशासन को उक्त एरिये को सील नहीं करने दिया।

बता दें कि महापौर उषा चौधरी एवं उनके पति के कोरोना पाॅजिटिव निकलने के पश्चात प्रशासन द्वारा मौ. गंज, डाकखाना रोड में पूरब में गौरव गारमेंट व अरोरा फ्रेमिंग सेन्टर, पश्चिम में आधवी फोटो फ्रेमिंग सेन्टर व विजय टीवी रिपेयरिंग, उत्तर में आधवी फोटो फ्रेमिंग व गौरव गारमेंट तथा दक्षिण में विजय टीवी रिपेयरिंग तथा अरोरा फ्रेमिंग सेन्टर के बीच के क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।

आज जब पुलिसकर्मी उक्त क्षेत्र को बल्लियों से बंद करने लगे तो व्यापारी नेता एकत्र हो गये और उन्होंने उक्त गली को सील करने का विरोध किया। और उन्हें बल्लियां नहीं लगाने दीं। व्यापारी नेताओं का कहना था कि ये त्यौहार का समय है और उक्त गली मेन बाजार को रतन सिनमा रोड से जोड़ती है। यदि ये गली बंद हो जायेगी तो पहले से आर्थिक मंदी झेल रहा व्यापारी और परेशान हो जायेगा।

व्यापारियों के विरोध को देखते हुए प्रशासन ने मेयर उषा चौधरी के घर को आधी सड़क तक कवर कर कंटेनमेंट जोन की इतिश्री कर दी। आपको बता दें कि चौधरी का घर पहले से ही बंद है और उसमें ताला पड़ा हुआ है।

कंटेनमेंट जोन का विरोध करने वालों में व्यापार मंडल अध्यक्ष प्रभात साहनी, जतिन नरूला, गुरविंदर सिंह चंडोक, राकेश नरूला, राजेश पेंटर आदि मौजूद थे।

विदित हो कि विगत 24 मार्च से लाॅकडाउन और कई अन्य प्रकार की पाबंदियां झेल रहे लोग अब इससे आजिज आ चुके हैं और जगह-जगह कंटेनमेंट बनाये जाने का विरोध कर रहे हैं। इससे पूर्व शिवनगर कालोनी में भी एक गली के निवासियों ने कंटेनमेंट बनाये जाने का विरोध किया था और प्रशासन द्वारा लगाई गई बल्लियों को हटा दिया था। बाद में प्रशासन ने उन बल्लियों को दोबारा लगाया था लेकिन उस जगह के कंटेनमेंट जोन को महज 5 दिन में ही समाप्त कर दिया गया था।

सूत्रों से पता चला है कि एक कंटेनमेंट जोन के कई लोगों ने अपना घर छोड़कर कहीं अन्यत्र बसेरा बना लिया है। अब जो लोग इस कंटेनमेंट जाने में बंद हैं वे भी अन्य कंटेनमेंट जोन के हालातों पर नजर बनाये रखे हुए हैं। ये सभी लोग अब चाहते हैं कि जिस घर में कोरोना पाॅजिटिव मिले केवल उसके घर को ही सील कर उसमें रहने वाले लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us