वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी को जान का खतरा, एसएसपी को लिखा पत्र

रुद्रपुर (महानाद) : उप श्रम आयुक्त कार्यालय में तैनात वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी महेन्द्र नाथ ने एसएसपी उधम सिंह नगर को पत्र लिखकर सुरक्षा की मांग की है।

एसएसपी उधम सिंह नगर को लिखे पत्र में महेन्द्र नाथ ने बताया कि 30.07.2020 को मैसर्स- अमूल आटो कम्पोनेण्ट सिडकुल, पन्तनगर के प्रबन्धन एवं श्रमिकों के मध्य नियत वार्ता की तिथि नियत थी। 30 जुलाई को मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के जनपद भ्रमण के कारण तिथि विस्तारित करने हेतु सहायक श्रम आयुक्त द्वारा निर्देशित किया गया था। निर्देशानुसार मेरे द्वारा पत्रावली में समय विस्तारण हेतु कार्यवाही लिखी गयी।

महेन्द्र नाथ ने बताया कि लगभग 12 बजे कार्यालय में श्रमिकों के साथ वीरभद्र सिंह असवाल नाम का व्यक्ति आया और उनसे जबरदस्ती पत्रावली को दिखाने हेतु बहस करने लगा। उनके द्वारा यह कहने पर कि आपको श्रमिकों की अथाॅरिटी है तो पत्रावली देख सकते हैं अन्यथा नहीं। उनके द्वारा ऐसा कहने पर वह अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगा और धमकी देते हुए कहने लगा कि मैं तुझे देख लूंगा, तू मुझे नहीं जानता है।

नापथ ने कहा है कि यह व्यक्ति बिना वजह के कार्यालय में आता है और अक्सर आता जाता रहता है। और कार्यालय में उसके मन माफिक कार्य न करने पर वह धमकी देता है । इस व्यक्ति द्वारा सिडकुल क्षेत्र के श्रमिकों को भड़काया जाता है और श्रमिकों को आकोशित करते हुए कार्यालय में आकर अभद्र व्यवहार किया जाता है। इस व्यक्ति का प्रमुख कार्य श्रमिकों को भड़काना और श्रमिकों को आन्दोलनात्मक गतिविधियों हेतु उकसाना तथा सिडकुल क्षेत्र में अशान्ति फैलाना है। मनमाफिक कार्य न होने पर कार्यालय कर्मचारियों में आरोप लगाकर पत्राचार करता है। यह व्यक्ति अक्सर श्रम कार्यालय के के आस पास ही दिखाई देता है।

नाथ ने पत्र में कहा है कि ऐसी स्थिति में वे कार्यालय में कार्य करने में अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हंै। उक्त व्यक्ति की धमकी से मुझे अपनी जान – माल का खतरा बना हुआ है । यदि मेरे साथ किसी भी प्रकार की घटना घटती है तो उसके लिए वीरभद्र सिह असवाल जिम्मेदार रहेगा। उक्त व्यक्ति के सम्बन्ध में अभिसूचना इकाई से जांच करवाये जाने पर स्पष्ट हो जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us