रंग लाये डॉ. सिंघल के प्रयास जसपुर-सुल्तानपुर पट्टी मार्ग के पुनः निर्माण हेतू 23.5 करोड़ स्वीकृत

रंग लाये डॉ. सिंघल के प्रयास जसपुर-सुल्तानपुर पट्टी मार्ग के पुनः निर्माण हेतू 23.5 करोड़ स्वीकृत

पराग अग्रवाल
जसपुर (महानाद) : पूर्व विधायक एवं भाजपा नेता डॉ. शैलेन्द्र मोहन सिंघल ने अपने आवास पर आयोजित पत्रकार वार्ता में बताया कि जसपुर-काशीपुर बाईपास मार्ग का निर्माण लगभग पूर्ण होने की कगार पर है और इसके साथ ही जसपुर-काशीपुर नगरीय मार्ग को एनएचएआई द्वारा राज्य सरकार को स्थानांतरित करने की प्रक्रिया भी प्रारम्भ हो चुकी है। यह मार्ग बहुत ही जीर्ण-शीर्ण हालत में हैं। इस मार्ग के पुनर्निर्माण हेतु केंद्र सरकार के भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा लगभग 23.5 करोड़ की धनराशि स्वीकृत कर दी गयी है। जिसके तहत जसपुर में फीका पुल से जसपुर नगर होते हुए शिवराजपुर पट्टी तक और ग्राम कुंडा से सरवरखेड़ा तक मार्ग का लगभग 10.5 करोड़ रुपए की लागत से पुनः निर्माण होगा। फिर सरवरखेड़ा से काशीपुर नगर होते हुए सुल्तानपुर पट्टी तक मार्ग का निर्माण लगभग 13 करोड़ रुपए की लागत से होगा।

डॉ. सिंघल ने बताया कि उनके द्वारा लगभग 2 वर्ष पूर्व तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को जसपुर से सुल्तानपुर पट्टी तक मार्ग के पुनः निर्माण के लिए पत्र सौंपा था और लोक निर्माण विभाग खंड काशीपुर द्वारा भी इस सड़क का आगणन तैयार करके राज्य सरकार को भेजा गया था। जिस पर राज्य सरकार द्वारा कार्यवाही करते हुए केंद्र सरकार को अनुरोध पत्र भी भेजा गया था। जिसके फलस्वरूप केंद्र सरकार द्वारा धनराशि भी स्वीकृत हो चुकी है और अब शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारम्भ होगा। डॉ. सिंघल ने जसपुर से काशीपुर नगर होते हुए सुल्तानपुर पट्टी तक मार्ग के पुनः निर्माण के लिए धनराशि स्वीकृत होने पर केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री और नैनीताल लोकसभा सीट से सांसद का आभार जताया है।

इस अवसर पर अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष मुकेश कुमार, सुरेंद्र चौहान, सुधीर विश्नोई, राजकुमार गुम्बर, विनीत चौहान, तरुण गहलौत, डॉ. सुदेश चौहान, विनोद प्रजापति, रणवीर चौधरी, भूदेव सिंह, खड़क सिंह चौहान, शिव किशोर रुहेला, ब्रजवीर चौधरी, उमा विश्नोई, अभिषेक चौहान, सलीम अहमद, विशाल कश्यप, कृष्ण कुमार, प्रेम कश्यप आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us