सहरानीय : दरगाह मार्किट के दुकानदार अपने खर्चे पर करा रहे हैं टूटी सड़क को ठीक

अब्दुल सत्तार

पिरान कलियर (महानाद) : कलियर एक धार्मिक स्थल होने से दरगाहों से आस्था रखने वाले जायरीनों का आना जाना लगा रहता है। आस्था की इस नगरी मैं हर तरफ अव्यवस्थाओं का बोल बाला हैं। अब बात चाहे टूटी हुई सड़को की हो या हो साफ सफाई की। हर एंगल से क्षेत्रवासियों और कारोबारीयो को ही दिक्कतों का सामना करना होता है।

इन सब बातों से परेशान होकर अब लोगो ने आत्मनिर्भर होने का मन बना लिया है। यदि अब बात करे विश्व प्रसिद्ध दरगाह साबिर पाक की तो यहाँ का प्रबन्धक तंत्र इतना लापरवाह और नाकारा हैं कि किसी भी खराब पड़ी चीज पर कोई ध्यान नही देता है। अब बात चाहे पानी की निकासी की हो, या पेयजल की व्यवस्था हो या फिर दरगाह अहाते में टूटी पड़ी सड़को की हो। सभी ओर अव्यवस्थाओं का ही बोल बाला है। इन सब से तंग आकर लोगो ने आत्मनिर्भर होना शुरू कर दिया है।

जिसका एक उदाहरण दरगाह साबिर पाक की चिश्तिया मार्किट में देखने को मिला है यहाँ के दुकानदारों ने काफी से टूटी पड़ी सड़क को अपने ही जेब से पैसे खर्च कर सड़क को दुरुस्त करने का जिम्मा उठाया है। काफी समय से खस्ता हालत में पड़ी मार्किट की सड़क को खुद ही सही कराने के लिए दुकानदारो को आत्मनिर्भर होना पड़ा है।

मार्किट के दुकानदार उस्मान फ़राज़, सरफराज, मोहम्मद शाकिर, मोहम्मद ताज, विकार, महबूब, फरहत, अजीम आदि का कहना की काफी समय से टूटी पड़ी सड़क में पानी भरने से जायरीनों और स्थानीय लोगो को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था कई बार लोग इन गड्डो में उलझ कर चोटिल तक हो जाते थे। जिसको स्थानीय जनप्रतिनिधियों व दरगाह प्रबंधन को इस संबंध अवगत करने के बाद इन ओर कोई ध्यान नही दे रहा था जिसके चलते सभी दुकानदारो ने आत्मनिर्भर होते हुए अपने खर्चे से ही इस टूटी पड़ी सड़क को दुरुस्त कराने का जिम्मा उठाया है ताकि यहाँ से गुजरने वाले जायरीनों को कोई दिक्कत न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us