fbpx

गुप्त निरीक्षण पर निकले जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल

रुद्रप्रयाग (महानाद) : जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल द्वारा दिनांक 09.06.2019 की रात्रि को प्राइवेट वाहन से 1.00 बजे से प्रातः 11ः00 बजे तक स्थान गौरीकुण्ड एवं गौरीकुण्ड घोड़ा पड़ाव का एक यात्री के रूप में गुप्त रूप से निरीक्षण करते हुए रात्रि प्रवास गौरीकुण्ड घोड़ा पड़ाव में किया गया।

इस संबंध में पाया गया कि गौरीकुण्ड घोड़ा पड़ाव में रात्रि 1ः00 बजे से केदारनाथ हेतु घोड़े-खच्चरों का संचालन शुरू हो जाता है। घोड़े-खच्चरों की व्यवस्था देखने पर स्पष्ट हुआ कि जवानों के अभाव में घोड़ा पड़ाव पर अत्यन्त अव्यवस्था फैली हुई है। घोड़े खच्चर के स्वामियों द्वारा घोड़े-खच्चरों को रास्ते पर ही खड़ा किया जाना पाया गया, जिससे यात्रियों को अत्यन्त परेशानियां होनी पायी गईं। इस बीच घोड़ा पड़ाव पर पुलिस/होमगार्ड का कोई भी जवान तैनात नहीं पाया गया।

निरीक्षण के दौरान प्रातः 5ः00 बजे से 9ः00 बजे तक 4 जवान उपस्थित पाये गये, जिन्हें स्वयं भी यह पता नहीं था कि उन्हें क्या कार्यवाही करनी है। प्रातः 9ः00 बजे के पश्चात मात्र 1 जवान गौरीकुण्ड घोड़ा पड़ाव पर उपस्थित मिला।

श्री केदारनाथ यात्रा-2019 की समय-समय पर आहूत बैठकों में पुलिस विभाग से सहमति बनी थी कि केदारनाथ जाने वाले प्रत्येक घोड़े-खच्चर की जांच पुलिस के जवानों द्वारा गौरीकुण्ड से आगे की जायेगी, जिससे कोई नाबालिग हाॅकर घोड़े-खच्चरों का संचालन न कर सके एवं एक से अधिक घोड़े-खच्चरों के साथ एक ही हाॅकर न चल सके, जिससे यात्रियों के घोड़े-खच्चरों से गिरने की सम्भावना कम हो सके। इस संबंध में चौकी प्रभारी गौरीकुण्ड को कई बार निर्देशित किया जा चुका है, परन्तु केदारनाथ यात्रा प्रारम्भ होने के 1 माह पश्चात भी चैकी प्रभारी गौरीकुण्ड द्वारा यह व्यवस्था प्रारम्भ नहीं की गई है, जो अत्यन्त खेदजनक है।

गौरीकुण्ड घोड़ा पड़ाव पर प्रातः 5ः00 बजे पश्चात मात्र 1 जवान ड्यूटी पर आया। इससे स्पष्ट होता है कि गौरीकुण्ड घोड़ा पड़ाव जिससे यात्रियों का संचालन पूरे 24 घण्टे होता है एवं यात्रियों तथा घोड़े-खच्चरों की अधिकतम भीड़ रहती है वहां पर पुलिस के जवानों द्वारा मात्र 04 घण्टे की ड्यूटी दी जा रही है, जो अत्यंत गंभीर मामला है।

जिलाधिकारी द्वारा प्रातः 11ः00 बजे गौरीकुण्ड का निरीक्षण किया गया, तो पाया गया कि 1 जवान घोड़ा पड़ाव पर, 1 जवान तप्तकुण्ड पर तथा 1 होमगार्ड का जवान शटल सेवा पर तैनात पाया गया। इसके अतिरिक्त पूरे गौरीकुण्ड में किसी भी स्थान पर पुलिस के जवानों की उपस्थिति कहीं भी नहीं देखी गई। इस संबंध में स्थानीय वाहन चालकों एवं व्यक्तियों से पूछताछ की गई तो उनके द्वारा आक्रोशित होकर अवगत कराया गया कि गौरीकुण्ड में पुलिस की व्यवस्था अत्यधिक कमजोर है।

गौरीकुण्ड शटल सेवा में मात्र 01 ही होमगार्ड का जवान तैनात होने से गौरीकुण्ड से सोनप्रयाग के बीच वाहनों का काफी लम्बा जाम लगा हुआ पाया गया एवं शटल सेवा की गाड़ियां गौरीकुण्ड से सोनप्रयाग समय से पहुंचनी नहीं पायी गईं। इसके विपरीत सोनप्रयाग में 6-7 जवान शटल सेवा की ड्यूटी पर तैनात पाये गये। यहां पर यात्रियों की लम्बी कतार शटल सेवा के वाहनों का इंतजार करती हुई पायी गई परन्तु वाहनों के समय पर न आने से यात्रियों की लम्बी लाईन बढ़ती जा रही थी तथा पुलिस की इस लचर व्यवस्था को देखते हुए यात्री काफी आक्रोशित होने पाये गये।

रात्रि 01ः00 बजे से प्रातः 11ः00 बजे तक चौकी प्रभारी गौरीकुण्ड, गौरीकुण्ड बाजार, घोड़ा पड़ाव तथा शटल सेवा केन्द्र पर भी दिखाई नहीं दिये, जो चैकी प्रभारी की घोर लापरवाही एवं शिथिलता का परिचायक है, तथा यह भी अत्यन्त गम्भीर विषय है।

उपरोक्त तथ्यों के सम्बन्ध में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने पुलिस अधीक्षक को तत्काल प्रभाव से चौकी प्रभारी गौरीकुण्ड को हटाते हुए उनके विरूद्ध विभागीय अनुशासनात्मक कार्यवाही प्रारम्भ करने के साथ ही उनके स्थान पर किसी कार्यकुशल अधिकारी की तैनाती करने को कहा है ताकि पुलिस व्यवस्था सुचारू की जा सके एवं देश-विदेश से आने वाले तीर्थ यात्रियों में पुलिस प्रशासन की अच्छी छवि प्रसारित की जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कलियर में मनाया गया ड्रग डे दिवस     |     भाजपा नेता विजेंद्र गुप्ता की पत्नी के साथ हुई लूटपाट से आम आदमी पार्टी हुई ‘खुश’     |     चंद्रबाबू नायडू के आवास पर आधी रात को चला निगम का हथौड़ा     |     शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय के पुत्र की सड़क दुर्घटना में मौत     |     विद्युत लाइनमैन की दर्दनाक मौत     |     अधर में लटके तहसील भवन की सुध लेने पहुंचे इंजीनियर     |     गरीब, मजबूर, असहाय लोगों के कार्यों को गंभीरता से लें अधिकारी : सुंदर सिंह     |     कवि सम्मेलनों के आयोजन से राष्ट्रीय एकता अखंडता मजबूत होती है : प्रदीप बत्रा     |     सड़क बनाने को एक हुए बीजेपी और काँग्रेस के नेता     |     खबर का असर : स्वास्थ्य विभाग की टीम ने रोका टीकाकरण     |    

WhatsApp us