जगत माता दिवस” के रूप में मनाया 15 अगस्त

विकास अग्रवाल

काशीपुर (महानाद):  संत निरंकारी मिशन में 15 अगस्त का दिन स्वतंत्रता दिवस के साथ साथ आध्यात्मिकता में मुक्ति पर्व के रूप में मनाया मनाया जाता है।

जैसा कि सभी जानते हैं कि स्वतंत्रता दिवस देशभर में बड़ी खुशी और उत्साह के साथ मनाया जाता है इस दिन हमारे देश को आजादी मिली थी। लेकिन इसके साथ साथ निरंकारी मिशन के दूसरे गुरु शहंशाह बाबा अवतार सिंह जी की धर्मपत्नी जगत माता बुध वंती जी 15 अगस्त 1964 को ब्रह्मलीन हो गई थी। तब से निरंकारी मिशन उनकी स्मृति में 15 अगस्त का दिन “जगत माता दिवस” के रूप में भी मनाता रहा है।

उसके पश्चात 17 सितंबर 1969 को शहंशाह बाबा अवतार सिंह जी ने नश्वर शरीर त्याग दिया। तब से यह दिन “जगत माता शहंशाह दिवस” के रूप में जाना जाने लगा ।उसके पश्चात 15 अगस्त 1979 को निरंकारी मिशन के प्रधान लाभ सिंह जी ब्रह्मलीन हुए। तब से इस दिन का नाम मिशन के तीसरे गुरु बाबा गुरबचन सिंह जी के द्वारा मुक्ति पर्व रखा गया। तब से आज तक आज के दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में जहां खुशियो में मनाया जाता है वही इस दिन निरंकारी मिशन के अनुयायी जगह-जगह सत्संग करके उन मुक्त संत जनों का जिक्र करते हैं जिन्होंने अपना जीवन जीते हुए मानवता का भला किया और हर इंसान तक यह सत्य का संदेश पहुंचाया ; ” आप मुक्त मुक्त करे संसार; तिस पंडित को सदा नमस्कार”।

आज संपूर्ण विश्व में 15 अगस्त का दिन निरंकारी जगत के अनुयाई मुक्ति पर्व के रूप में मनाते आ रहे हैं। इस दिन उन सभी संतों का जिक्र होता है जो मिशन की आवाज को लोगों तक पहुंचाते रहे और मिशन की सेवाएं करते हुए उन्होंने अपने जीवन की तोड़ निभाई। उनके द्वारा किए गए परोपकार के कार्यों का चर्चा किया गया।आज काशीपुर में संत निरंकारी सत्संग भवन मैं शाम को 3:00 बजे से निरंकारी सेवादल के सदस्य एकत्रित हुए उन्होंने संचालक परवीन कुमार सहायक संचालिका मुन्नी चौधरी, सहायक शिक्षक अशोक कुमार ,तरसेम सिंह ,शिक्षिका सुमिता खेड़ा, सहायक शिक्षिका रीटा की देखरेख में सेवा दल की रैली और सेवा दल के कार्यक्रम किए गए। तत्पश्चात शाम 5:00 बजे से 8:00 बजे तक एक विशाल सत्संग का कार्यक्रम जसपुर से आए भाई साहब सागर जी की अध्यक्षता में किया गया। उन्होंने भी सबसे सत्य के मार्ग पर चलने के साथ सतगुरु माता सुदीक्षा के आदेशों का पालन करने की प्रेरणा दी।

स्थानीय मुखी इंद्रजीत सचदेवा जी द्वारा आए हुए संतों का धन्यवाद किया गया स्थानीय वक्ता प्रदीप अरोड़ा राजेंद्र अरोरा ओम प्रकाश जी जितेंद्र सोनू कविंद्र शर्मा जबर सिंह जोगा सिंह आदि अनेक संतों ने अपने विचार व्यक्त जिस का संचालन प्रकाश खेड़ा द्वारा किया गया इस कार्यक्रम में आसपास के क्षेत्रों के नौजवान भाई बहन बड़े बुजुर्ग और बच्चों सभी ने मिलकर भाग लिया सभी ने अपनी अपनी भावनाएं व्यक्त की ।वर्तमान सतगुरु माता सुदीक्षा जी के द्वारा आज दी जाने वाली प्रेरणाओं के अनुसार उनकी सिखलाईयो का जिक्र करते हुए सतगुरु के द्वारा दिए जाने वाले सत्य के मार्ग पर चलने की सिखलाई लोगों तक पहुंचाई गई।

सत्संग की समाप्ति रात्रि 8:00 बजे हुई और 8:00 बजे के बाद सरदार दर्शन सिंह के द्वारा गुरु के लंगर की सुंदर व्यवस्था की गई समस्त सेवा के कार्य सेवा दल के द्वारा सुचारू रूप से करते हुए सभी संतो को प्यार और नम्रता से बैठाकर लंगर का प्रसाद वितरित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

एसपी विपिन टाडा ने किया गंगा मां का धन्यवाद     |     राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने टेका नानकमत्ता गुरुद्वारे में मत्था     |     रोडवेज बसों से हो रहा डीजल चोरी, फोटो हुआ वायरल     |     ढूंढे नहीं मिल रहे नोटबन्दी में करोड़पति बने 40 लोग     |     शिवसेना की एक ही रट, मुख्यमंत्री हमारा ही होगा     |     तभी समर्थन इंदिरा जी ने शिवसेना का पाया था : अनिल सारस्वत     |     ज्वालानगर क्षेत्र में आज पेयजल आपूर्ति रहेगी ठप     |     शॉकिंग : दिल्ली में बिकने लगी ऑक्सिजन, 15 मिनट की कीमत 299 रुपये     |     कार से बरामद हुए 33.36 लाख रुपये, 3 लोगों ने दिए 3 जवाब     |     बर्दाश्त नहीं किया जाएगा पत्रकारों का उत्पीड़न : प्रदीप फुटेला     |    

WhatsApp us