डरने की कोई जरूरत नहीं, बिना वैक्सीन के जीत चुके हैं कोरोना से जंग : प्रधानमंत्री मोदी

डरने की कोई जरूरत नहीं, बिना वैक्सीन के जीत चुके हैं कोरोना से जंग : प्रधानमंत्री मोदी

अजय अग्रवाल
नई दिल्ली (महानाद) : देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर कोरोना टेस्ट, ट्रैकिंग और ट्रीटमेंट पर जोर दिया। मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात, छत्तीसगढ़ तथा पंजाब सहित कई राज्य कोरोना की फस्र्ट वेव की पीक को भी क्राॅस कर चुके हैं। कुछ अन्य राज्य भी पीक की ओर बढ़ रहे हैं। ये चिंता का विषय है। ज्यादातर राज्यों में प्रशासन सुस्त नजर आ रहा है। ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों ने मुश्किलें ज्यादा पैदा कर दी हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों को डरने की कोई जरूरत नहीं है, हमने तो वैक्सीन के बिना ही कोरोना से जंग जीत ली थी। अब तो हमारे पास वैक्सीन की भी ताकत है। इसके सहारे हम ये जंग जरूर जीतेंगे। पहले लाॅकडाउन लगाने के अलावा कोई रास्ता नहीं था। तब हमारे पास न मास्क थे। न टेस्टिंग की सुविधाऔर न ही अेस्टिंग के लिए लैब। लेकिन अब संसाधन ज्यादा हैं बस सावधानी बरतने की जरूरत है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 11 अप्रैल को ज्योतिबा फुले जी की जन्म जयंती तथा 14 अप्रैल बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की जन्म जयंती है। 11 से 14 अप्रैल के बीच कोरोना टीका उत्सव मनाया जाये। मोदी ने कहा कि मैं आप सभी से कोविड-19 परीक्षण पर जोर देने की अपील करता हूं। हमारा लक्ष्य 70% आरटी-पीसीआर परीक्षण करना है। सकारात्मक मामलों की संख्या अधिक होने दें, लेकिन अधिकतम परीक्षण करें।

मोदा ने कहा कि अभी संपूर्ण लाॅकडाउन करने की जरूरत नहीं है, फिलहाल नाइट कफ्र्यू ही काफी है। उन्होंने कहा कि कोरोना ऐसी चीज है जिसे जबतक आप बाहर से लेकर नहीं आएंगे, तब तक वह नहीं आएगा। इसलिए टेस्टिंग और ट्रेसिंग बढ़ाने की जरूरत है। जहां तक ट्रैकिंग का प्रश्न है, प्रशासनिक स्तर पर हर काॅन्टेक्ट को ट्रेस करना बहुत जरूरी है। हमें हर संक्रमित के 30 काॅन्टेक्ट ट्रेस करने चाहिए। जिन राज्यों में चुस्ती से काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग हो रही है, वहां अच्छी सफलता मिल रही है।

मोदी ने कहा कि वैक्सीन लेने के बाद भी हमें मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। पहले की तरह इस संकट को भी हम पार करके निकल जाएंगे। मोदी ने कहा कि स्वैब का सैंपल लेने में सावधानी बरतनी चाहिए। मुंह और नाक में अंदर से सैंपल लिया जाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us