जज से शादी करने के बाद जेल पहुंची दौसा की पूर्व एसडीएम पिंकी मीणा

जज से शादी करने के बाद जेल पहुंची दौसा की पूर्व एसडीएम पिंकी मीणा

जयपुर (महानाद) : पूर्व एसडीएम पिंकी मीणा ने जज से शादी करने के बाद जेल प्रशासन के सामने सरेंडर कर दिया। पिंकी मीना को हाईकोर्ट ने शादी करने के लिए दस दिन की अंतरिम जमानत देते हुए 21 फरवरी को जेल प्रशासन के सामने सरेंडर करने के आदेश दिए थे। पिंकी मीणा की शादी 16 फरवरी को हुई है। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने रिश्वत के आरोप में मीणा को 13 जनवरी को गिरफ्तार किया था।

आरएएस अधिकारी पिंकी मीणा ने अपनी शादी का हवाला देकर राजस्थान हाईकोर्ट में अंतरिम जमानत देने की गुहार की थी। जिस पर हाईकोर्ट ने 10 फरवरी को 10 दिन की अंतरिम जमानत देते हुए उन्हें 21 तारीख को सरेंडर करने के आदेश दिए थे। हाईकोर्ट के आदेश पर अमल करते हुए पिंकी मीणा ने रविवार शाम को जेल प्रशासन के सामने सरेंडर कर दिया। चेहरे को चुन्नी से लेपटकर मीना महिला जेल पहुंची और सीधे गेट से अंदर जाकर जेल प्रशासन के सामने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।

पिंकी मीना जेल तक गाड़ी से आई थी। इस दौरान उसने गुलाबी रंग का सूट और स्पोर्ट्स शूज पहने हुए थे। उनके हाथों पर शादी की मेहंदी भी दिखाई दे रही थी। वह अपने चेहरे को चुन्नी से ढककर सीधे जेल के गेट से अंदर चली गई।

बता दें कि पिंकी कभी घूस के आरोप में जेल जाकर तो कभी शादी के लिए जेल से बेल लेकर तो कभी अपनी शादी में जागरूकता का संदेश देकर चर्चा में बनी हुई हैं। वहीं उन्होंने दौसा के बसवा के रहने वाले राजस्थान न्यायिक सेवा में जज नरेंद्र कुमार से शादी की है।

दोनों का विवाह भी खासा चर्चा में रहा। शादी वाली रात दूल्हा बारात लेकर जयपुर के सीकर रोड स्थित शादी वाले रिसाॅर्ट में नहीं पहुंचा तो खलबली मच गई। इस शादी में तमाम मेहमान पहुंचे लेकिन देर रात तक दूल्हा नहीं पहुंचा। बाद में पता चला कि शादी दुल्हन के गांव में होगी। गांव में पिंकी मीणा के चुनिंदा परिजन तथा दूल्हे नरेंद्र के करीबी दोस्त और परिजन ही पहुंचे और ये शादी बेहद सादगी से संपन्न हुई। उनकी शादी के कार्ड पर कोरोना के खिलाफ जागरूकता और खाना बर्बाद नहीं करने जैसे सामाजिक संदेश भी प्रिंट कराए गए थे।

क्या है मामला?
केसीसी बिल्डकाॅन कंपनी ने राजस्थान एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) में शिकायत की थी कि कंपनी दिल्ली से बडोदरा आठ लेन रोड निर्माण कर रही है। सुचारू रोड निर्माण के लिए स्थानीय प्रशासन के सहयोग की जरूरत होती है। निर्माण कार्य में रुकावट नहीं डालने की एवज में तत्कालीन दौसा की एसडीएम पिंकी मीणा रिश्वत मांग रही है। रिपोर्ट पर कार्रवाई करते हुए एसीबी ने आरएएस पिंकी मीणा और पुष्कर मित्तल को 13 जनवरी को गिरफ्तार किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us