काशीपुर : नशेड़ी बताकर पत्नी की नजरों में कर रहा था बदनाम, इसलिए हुई विशाल की हत्या

काशीपुर : नशेड़ी बताकर पत्नी की नजरों में कर रहा था बदनाम, इसलिए हुई विशाल की हत्या

आकाश गुप्ता
काशीपुर (महानाद) : पुलिस ने सिर कटी लाश मामले का खुलासा करते हुए मृतक के दो दोस्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

मामले का खुलासा करते हुए आईटीटाई थाना प्रभारी विद्यादत्त जोशी ने बताया कि विगत 19-11-2021 को धीमरखेड़ा, आईटीआई निवासी राजकुमार पुत्र राजाराम ने अपने पुत्र विशाल (21 वर्ष) के दिनांक 18-11-2021 से लापता होने के सम्बन्ध में पैगा चौकी में गुमशुदगी की सूचना अंकित करायी थी। विशाल के परिजनों ने उसके साथ कोई घटना घटित होने का अंदेशा जाहिर किया गया था। जिसके आधार पर एसएसपी उधम सिंह नगर दलीप सिंह कुंवर द्वारा गुमशुदा की तलाश हेतु एसपी काशीपुर प्रमोद कुमार के निर्देशन में पुलिस टीमों का गठन किया गया।

पुलिस टीमों द्वारा सीसीटीवी फुटेज, गुमशुदा के मोबाईल फोन के सीडीआर व सुरागरसी पतारसी करने पर पता चला कि विशाल गायब होने से पूर्व संदीप सिंह पुत्र दलजीत सिंह निवासी खोखराताल, धीमरखेड़ा तथा सचिन उर्फ नन्नू पुत्र रूप चन्द निवासी दीक्षा नगर, धीमरखेड़ा के साथ गायब होने से पूर्व देखे जाने की पुष्टि हुई। संदेह के आधार पर संदीप सिंह व उसके साथी सचिन उर्फ नन्नू से सख्ती से पूछताछ की गयी तो दोनों ने बताया कि उन्होंने 18 नवंबर को विशाल को धीमरखेड़ा से ले जाकर रजपुरा डाम पर हत्या कर शव नहर में करीब एक – डेढ किमी दूर दलदल में दबा दिया। जिसके बाद पुलिस ने अभियुक्तों की निशानदेही पर विशाल के परिजनों की उपस्थिति में गुमशुदा विशाल का सिर विहीन शव रजपुरा-टांडा गाँव की नहर से 24-11-2021 को बरामद किया गया।

पूछताछ के दौरान संदीप सिंह ने बताया कि वह, विशाल और नन्नू तीनों आपस में दोस्त थे। विशाल ज्यादातर मेरे साथ ही रहता था लेकिन कुछ दिनों से वह मुझे नशेड़ी कहकर बदनाम कर रहा था। विशाल ने मेरी पत्नी को यह कहा कि संदीप नशेड़ी है व अच्छा आदमी नहीं है। तुमने संदीप के साथ शादी कर गलती की है, इससे तो तुम्हारा पूर्व पति बन्टी ही अच्छा था। इस बात पर मेरा अपनी पत्नी से झगड़ा भी हुआ था। विशाल की इन बातों से मुझे यह शक हो गया कि मेरी ये पत्नी भी मुझे छोडकर न चली जाये। मैं विशाल से इतना चिढ़ गया कि मैंने नन्नू के साथ मिलकर विशाल को मारने की योजना बनायी। दिनांक 18/11/2021 दिन में मैंने व नन्नू ने बहाने से विशाल को धीमरखेड़ा बुलाया तथा अपनी बाइक पर बैठाकर रजपुरा डैम ले गये जहाँ मैंने व नन्नू ने पाटल से बाया हाथ व गला काटकर हत्या कर दी और उसका शव उस समय वहीं पर छुपा दिया तथा दूसरे दिन रात्रि में नन्नू के साथ आकर विशाल के शव को उैम से बाहर खींचकर करीब एक-डेढ़ किमी दूर ले जाकर कीचड़ में दवा दिया तथा विशाल के हाथ कपड़े व सिर को वहीं पास ही बोरे में डाल कर फेंक दिया।

अभियुक्तों की निशादेही पर दिनांक 24/11/2021 को पुलिस द्वारा उत्तर प्रदेश की सीमा में रजपुरा-टांडा गांव में नहर से गुमशुदा विशाल का सिर व बांया हाथ विहीन शव बरामद किया गया तथा घटनास्थल से अभियुक्तों द्वारा मृतक की हत्या में प्रयुक्त पाटल व मृतक का मोबाईल फोन अभियुक्त की निशादेही से बरामद किया गया। अभियुक्तों को धारा 364/302/201/120 बी आईपीसी में गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया। मृतक विशाल के सिर व बांया हाथ / कपड़ों की बरामदगी हेतु प्रयास किये जा रहे हैं।

पुलिस टीम में आईटीआई थानाध्याक्ष विद्यादत्त जोशी, एसआई रविन्द्र बिष्ट, अमित शर्मा, प्रदीप कुमार भट्ट, कां. कमल पाल, उमेश तोमक्याल, विरेन्द्र राणा, कैलाश तोमक्याल, दीपक कठैत, गिरीश काण्डपाल, बलवन्त सिंह, ध्यान सिंह, महेन्द्र सिंह, जरनैल सिंह तथा विनय कुमार शामिल थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp us